कम्प्युटर वायरस क्या है वायरस के प्रकार और इससे बचने के उपाय

आज के इस लेख मे आपको कम्प्युटर वायरस क्या है वायरस के प्रकार और उससे बचने के उपाय के बारे मे पूरी जानकारी देने वाला हु। अगर आपके पास भी कम्प्युटर या फिर लेप्टोप है तो आपको ये लेख ध्यान से पढ़ के इसको समज ना चाहिए। अगर आपके पास ये डिवाइस नहीं हे फिर भी इसको जानकारी के लिए जरूर पढे। ताकि इस लेख की मदद से आप अपने दोस्तो की भी कम्प्युटर वायरस की जानकारी दे सके।

कम्प्युटर वायरस क्या है?

कम्प्युटर वायरस एक प्रकार के प्रोग्राम ही होते है, और इसको किसी प्रोग्रामर के द्वारा या तो फिर किसी हेकर के द्वारा बनाया जाता है। इसको प्रोग्रामिंग से सॉफ्टवेर के रूप मे भी बनाया जा सकता है। और इसके कई अलग-अलग प्रकार आते है। और इसको कई बार किसी खास सिस्टम को टार्गेट करके बनाया जाता है। कम्प्युटर वायरस को प्रोग्रामिंग भाषा मे बनते है। ताकि वो सिस्टम मे जाके उसका काम करने लगे।

कम्प्युटर वायरस क्या काम करते है? | कम्प्युटर वायरस क्यू बनाए जाते है?

कम्प्युटर वायरस के काम मुख्य रूप से किसी भी सिस्टम मे जाके असपे नजर रखने का होता है। और इसको कई लोग स्पाइ वायरस के नाम से भी जानते है। इसके अलावा कई हेकर कम्प्युटर वायरस को सिस्टम को बर्बाद करने के लिए भी करते है। और कई कम्प्युटर वायरस सिस्टम को हेक करके सिस्टम के मालिक से पेसे लेने के लिए भी बनाए जाते है इसका उदाहरण दुनिया ने रेमसमवेर नाम के वायरस से देख ही लिया है। अब आपने यहा से इसको जान ही लिया हे की इसको क्यू बनाया जाता है, और इसके काम क्या है।

कम्प्युटर वायरस के प्रकार और उसके नाम

कम्प्युटर वायरस कई प्रकार के आते हे जिसके बारे मे यहा मेने इसकी एक लिस्ट बनाई हुई है जिसको आप यहा देख सकते है। और इन सभी कम्प्युटर वायरस के अलग-अलग नाम है, और अलग काम है।

Malware क्या है?

दोस्तो अगर किसी भी वायरस की एक सटीक पहेचान देनी हो तो उसको Malware कहा जाता है। और उसके कई प्रकार होते है जिसको हम वायरस के नाम भी कहे सकते है। जिसकी सुची नीचे दी हुई है। अगर Malware की बात करे तो ये एक प्रकार के सॉफ्टवेर ही होते हे जिसका काम किसी भी सिस्टम मे जाके कम्प्युटर को खराब करना होता है। अब जानते हे इनके प्रकार और नाम।

कम्प्युटर वायरस के नाम

  • Virus
  • Worms
  • Trojan
  • Ransomware
  • Spyware
  • Adware

ये सभी कम्प्युटर वायरस के प्रकार के नाम हे कोई वायरस अलग-अलग नाम से हो सकते है मगर यहा जो बताए गए हे नाम मुख्य रूप से सभी वायरस इन सभी के तरहा ही काम करते है और इनकी श्रेणि मे ही आते है। अब एक-एक करके जानते है की इन सभी वायरस के क्या काम होते हे जोकि इनको अलग-अलग नाम से पहेचाना जाता है।

Computer Virus

  • जब इस प्रकार के वायरस आपके कम्प्युटर मे लेप्टोप मे और मोबाइल मे आ जाते है, तब ये आपके सिस्टम मे पड़ी फ़ाइल को डॉकयुमेंट को और विंडोज की सिस्टम की फ़ाइल को खराब करने लगते हे जिसके कारण आपका कम्प्युटर खराब होने लगता है।और आपको आपके सामने कई प्रकार की सिस्टम एरर्स देखने को मिल जाती है।

Worms

  • अब दोस्तो ये वायरस भी पहेले जेसे वायरस के जेसा ही होता है, मगरइसमे आपको कुछ खास तरहा के लकसण देखने को मिल जाते है। इस Worms वायरस अपने जेसे बायरस की कई सारी कॉपी बना सकता है। और ये बनाता भी है जिसके कारण कम्प्युटर की हार्ड डिस्क और रेम दोनों फूल हो जाती है। और ये वायरस अगर आपके कोई दूसरे सिस्टम के साथ कनैक्ट हो गया तो ये उसको भी एफेक्ट कर देता है।

Trojan Horse

  • Trojan वायरस की खासियत ये हे की ये आपके सिस्टम मे कई तरहा के अगर ad आते है तो ये वह से ही आपके सिस्टम मे घुस जाते है। ये वायरस फेक सॉफ्टवेर के रूप मे होते है जोकि आपको सिर्फ डौन्लोड करके इंसटोल करा दिया जाता है। और फिर वो Trojan वायरस आपके सिस्टम मे और भी एसे ही वायरस को बनाते जाता है और कम्प्युटर को खराब करने लगता है।

Ransomware

  • Ransomware वायरस का नाम कई लोगो ने सुना होगा। ये वायरस किसी भी कम्प्युटर मे घुस जाता है और सभी फ़ाइल को लोक कर देता है। और फिर जिसने भी ये वायरस से आपकी सिस्टम पर अटेक किया हे उसके द्वारा आपकी सिस्टम को खोलने के लिए पेसे मांगे जाते है। और ये पेसे ये लोग बिटकोइन के रेप मे मागते है ताकि इनको कोई पकड़ ना पाये। ये वायरस आपकी पूरी सिस्टम पर अपना कब्जा बना लेता है। और ये वायरस ज्यादा तर Windows 7 वाले कम्प्युटर मे ही अटेक हुए थे। Windows 10 मे ये वायरस नहीं आते एसा ज्यादा तर देखा गया है।

Spyware

  • ये वायरस एक प्रकार से किसी खास व्यक्ति पर नजर रखने के लिए बनाया जाता है की वो अपने कम्प्युटर मे क्या क्या एक्टिविटी करता है। और ये वायरस काफी कम साइज के होते है। और ये वायरस जब कम्प्युटर मे आता है तो ये आपके कम्प्युटर मे होने वाली सभी गतिविधि पर नजर रखता है और उसको बनाने वाले व्यक्ति के पास सभी जानकारी भेजता रहेता है।

Adware

  • Adware वायरस आपके कम्प्युटर मे आता है तो ये आपके सिस्टम मे होम स्क्रीन पर कई प्रकार की ad दिखाने लगता है। जब की आप किसी सॉफ्टवेर को खोलते नहीं हे फिर भी। इस वायरस का मुख्य काम यही होता हे की ये आपके कम्प्युटर मे ad दिखाये ताकि दूसरे लोगो के सॉफ्टवेर ज्यादा से ज्यादा कम्प्युटर मे इंसटोल हो।

वायरस कैसे आते है कम्प्युटर मे | कम्प्युटर मे वायरस आने के कारण

कम्प्युटर मे वायरस आने के कुछ मुख्य कारण है जिसके बारे मे यहा मेने इसकी जानकारी दी हुई है। अगर आप लोग इन सभी गलकती यो को अगर टालेगे तो आपके कम्प्युटर मे वायरस नहीं आएगे।

कम्प्युटर मे वायरस आने के कारण

क्रेक सॉफ्टवेर और गेम्स को डौन्लोड करना

  • अगर आप क्रेक सॉफ्टवेर और गेम्स को गलत वैबसाइट से डौन्लोड करते हे तो आप वायरस के काफी करीब है। इस लिए सॉफ्टवेर और गेम्स को सही वैबसाइट से डौन्लोड करे।

इंटरनेट इस्तेमाल करना

  • अगर आप बहोत ही ज्यादा इंटरनेट इस्तेमाल करते हे और आप अलग-अलग वैबसाइट मे वीसैट करते रहेते है तो आपको संभाल के इसको इस्तेमाल करना चाहिएक्यू की कई वैबसाइट एसी भी होती है जिसमे वायरस होता है। और उसको खोलते ही आपके सिस्टम मे कोई सॉफ्टवेर डौन्लोड हो जाता हे और वायरस आपके सिस्टम मे आ जाता है।

किसी का भी पेनड्राइव अपने कम्प्युटर मे लगा देना।

  • अगर आप अपना पेनड्राइव किसी दूसरे के कम्प्युटर मे लगा कर कोई फ़ाइल लेकर आए हे और अब आप अपने कम्प्युटर मे भी अपने पेनड्राइव को लगा रहे हे तो आपके कम्प्युटर मे भी वायरस आ सकता है। इसको सही करने के लिए यहा मेने नीचे वायरस से बचन के उपाय बताए हुए है।

अंजाने ईमेल को खोलना।

  • अगर आपको लगता हे की आपके पास कई डीनो से कुछ अंजाने ईमेल आ रहे हे तो आपको उसको खोलना नहीं चाहिए क्यू की उसमे वायरस भी हो सकते है।

इसके अलावा भी कई प्रकार के कारण हो सकते है जोकि आपके कम्प्युटर मे वायरस को आने का रास्ता बन सकते है।

अब जानते हे इन सभी का समाधान क्या है। यानि की वायरस से बचने के उपाय क्या है। यहा मे आपसे एक बात कहेना चाहुगा की अगर आप इन सभी गलती को टाले गे तो वाइरस आने का चांस काफी कम हो जाएगा।

कंप्यूटर वायरस से बचने के उपाय

अगर कंप्यूटर वायरस से बचने के उपाय मे कोई सरल और आसान उपाय की बात करे तो ये यही हे की आप अपने कम्प्युटर मे किसी अच्छी कंपनी का लाइसेन्स वर्जन एंटीवायरस इस्तेमाल करे। क्यू की ये एंटीवायरस आपके कम्प्युटर मे सभी तरहा के वायरस को ब्लॉक करने मे और उसको डिलीट करने मे क्षक्षम होते है।

और इसके अलावा अगर मे कोई दूसरे उपाय की बात करू तो ये हे की आप ऊपर दी गयी सभी टिप्स को फॉलो करे जोकि ये दर्शाता हे की वायरस आपके कम्प्युटर मे कैसे आता है। अगर आप उसको आने से ही रोक देगे तो वो आपके कम्प्युटर मे कोई भी नुकसान नहीं पहोचाएगा।

  • एंटीवायरस इस्तेमाल करे।
  • वायरस आने के कारण को समजे और रोके।

अगर आप क्रेक सॉफ्टवेर और गेम्स को इस्तेमाल करते हे तो आप एंटीवायरस का इस्तेमाल करके उन सभी फ़ाइल को स्कैन करले।

निष्कर्ष

मुजे उम्मीद है की आपो मेरे द्वारा लिखा गया ये लेख पसंद आया होगा। इस लेख मे मेने कम्प्युटर वायरस क्या है वायरस के प्रकार और इससे बचने के उपाय सभी के बारे मे जानकारी देने की कोसिस की हुई है। अगर आपको इस लेख मे कोई भी जानकारी अगर कम लग रही हे तो आप मुजे इसके बारे मे बताए मे इसको सही कर दुगा ताकि आप इसको और अच्छे से समज पाये।

by Mayur
मेरा नाम मयूर है और मे अहमदाबाद शहर से हु। और इस ब्लॉग मे लोगो को इंटरनेट से जुड़ी जानकारी और कई महत्व पुन जानकारी देता हु लेख के रूप मे मुजे उम्मीद है की आपको हमारा ये ब्लॉग पसंद आएगा।

Leave a Comment

close